CYOB क्या है?

नगर निगम भोपाल द्वारा 4 R (रीसायकल ,रिड्यूस, रीयूज ,रिडिस्ट्रिब्यूशन )अंतर्गत विभिन्न गतिविधियो का संचालन किया जा रहा है | " कैरी योर ऑन बैग एवं कैरी योर ऑन बॉटल " अपने साथ बैग और पानी की बॉटल रखें व उपयोग करें|

 

CYOB की आवश्यकता क्यों है ?

पूरा विश्व आज पॉलीथिन की विकराल समस्या से जूझ रहा है. पॉलीथिन का निष्पादन अत्यंत जटिल व असंभव सी प्रक्रिया है पूरे विश्व मे लगभग 8%प्लास्टिक ही रिसाइकिल हो पा रहा है. एक व्यक्ति अपने साथ थैला ,झोला ,बैग का उपयोग कर एक माह में लगभग 5 से 6 किलो पॉलिथीन से धरती को प्रदूषित होने से रोक सकता है| असंग्रहित  अमानक पॉलीथिन पर्यावरण के साथ साथ जलीय जीव जंतु, स्थलीय जानवरों, पक्षियों सभी के लिए जानलेवा साबित हो रहा है | ,एक सर्वे के अनुसार 100 गाय में से 70 गायों की मौत पॉलीथिन खाने से हो रही है अब समय आ गया है कि हम सबको मिलकर अपनी जीवनशैली अपनी आदतों, अपने व्यवहार का स्वत:आकलन करें और एक प्रयास, एक कदम पर्यावरण संरक्षण की ओर उठाएं. अपने आगे आने वाली पीढ़ियों को स्वच्छ वायु, स्वच्छ जल की धरोहर देना है तो आज से ही अपने साथ एक थैला, झोला, बैग रखिए... पानी पीने के लिए बॉटल साथ रखिए |

 

नगर निगम भोपाल के प्रयास :-

नगर निगम भोपाल अमानक पॉलीथिन, सिंगल यूज पॉलीथिन व कटलरी, असंग्रहित पॉलीथिन के उपयोग में प्रतिबंध लगाने के लिए प्रतिबद्ध है. एक ओर  स्पॉट फाइन जब्ती की कार्यवाही नियमित रूप से की जा रही है, दूसरी ओर जनजागरुकता एवं व्यवहार परिवर्तन के लिए  CYOB जैसे कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं. इस विशेष अभियान में सतत रूप से विभिन्न रहवासी संघों, व्यावसायिक स्थलों, सब्जी मंडियों, और प्रमुख स्थलों पर लोगों को प्रेरित करेंगे कि वे खुद भी पॉलीथिन को न कहें और अन्य लोगों को भी प्रेरित करें |

इसके लिए स्वच्छाग्रही नागरिकों स्वयं सेवी संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा |

 

आपका सहयोग : -

स्वच्छता जनांदोलन है मूलतः व्यवहार परिवर्तन का विषय है समाज के हर वर्ग, हर संस्थान को इस अभियान में सहयोग व सतत योगदान देना होगा तभी स्वच्छ स्वस्थ भोपाल का संकल्प पूरा होगा|

#CYOB #Bhopal #CleanBhopal #Nature